. Corona virus how many people infected in india lockdown news | Number of people infected with corona and how many are infected in China

Corona virus how many people infected in india lockdown news | Number of people infected with corona and how many are infected in China

Corona virus how many people infected in india lockdown news | Number of people infected with corona and how many are infected in China :-

 दोस्तों कोरोनावायरस बहुत ही ज्यादा संक्रमित वायरस है डब्ल्यूएचओ  अर्थात word Health Organisation  विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे एक महामारी घोषित कर दिया है यह बीमारी यह वायरस सीधे  स्वसन तंत्र पर आक्रमण करती है अर्थात यह वायरस हमारे स्वसन तंत्र को प्रभावित करने लगती हैं इसके शुरुआत में लक्षण नहीं दिखाई देते और यह वायरस पूरे भारत में बहुत तेजी से फैल रहा है इसे रोकने के लिए भारत सरकार ने बीते रविवार को 9:00 से 7:00 बजे तक कर्फ्यू रखा और 24 मार्च को रात 8:00 बजे भारत सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 21 दिनों तक कर्फ्यू लगा दिया गया है अर्थात लॉक डाउन कर दिया गया है भारत में 21 दिनों तक लॉक डाउन का और प्रधानमंत्री जी ने सभी से गुजारिश की है कि कोई भी इन 21 दिनों में घर से बाहर ना निकले यह वायरस चाइना से फैला और इसने पूरे संसार  को प्रभावित कर दिया है और यह सबसे ज्यादा चाइना और इटली में है ।
Corona virus how many people infected in india lockdown news | Number of people infected with corona and how many are infected in China


यह वायरस भारत में भी बहुत तेजी से फैल रहा है स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में अब तक इसके 11 लोग शिकार हो चुके हैं। अर्थात 11 लोगों की मौत हो चुकी है।
 और इस वायरस के मरीज 519 हो चुके हैं भारत सरकार ने इसे देखते हुए कहा कि कोई भी अपने घर से बाहर ना निकले और सभी अपने घर के अंदर ही रहे ।
और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक चित्र दिखाते हुए कहा कि इस समय काफी फोटो वायरल हो रही हैं जिनमें से मुझे भी एक बहुत अच्छी लगी जो  की कोरोना वायरस की फुल फॉर्म की और वही फुल फॉर्म के अनुसार भारत में लोक डाउन कर दिया गया
को - कोई 
रो- रोड पर
ना - ना निकले
 भारत सरकार का कहना है कि अगर यह फुल फॉर्म भारत में अपनाई जाती है तो कोरोना का असर बहुत जल्दी खत्म हो जाएगा इसी के बीच चलते हुए एक और वायरस आ चुका है जिसका नाम है हंता वायरस दोस्तों अंता वायरस मैं बुखार आता है और वह सीधे किडनी पर भी असर करता है और व्यक्ति की मौत हो जाती है इस  वायरस से चाइना में एक व्यक्ति की भी मौत हो चुकी है और इसके अभी ज्यादा मामले सामने नहीं आए हैं ।
 एबीपी न्यूज के अनुसार अब तक इस से एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है जो कि काम कर कर बस में बैठा हुआ था और घर जा रहा था तो उसके चलते समय मृत्यु हो चुकी है


 21 दिन तक पूरा देश रहेगा बंद

मोदी ने राष्ट्र से कार से कर्फ्यू जैसा ही समझे 
14 अप्रैल तक ना लांघे घर की लक्ष्मण रेखा
2 से 300000 लोगों तक संक्रमण पहुंचने में 4 दिन लगे
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने को रोना महामारी से निपटने के लिए पूरे देश भर में 21 दिन के संपूर्ण लॉक डाउन का ऐलान किया उन्होंने कहा कि यह लॉक डाउन मंगलवार रात 12:00 बजे से पूरे देश में लागू होगा इस महामारी से बचने का एकमात्र उपाय सामाजिक दूरी बनाए रखना है उन्होंने कहा कि इसके  संक्रमण के चक्र को हर हाल में तोड़ना जरूरी है
 प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 21 दिन का लॉक डाउन एक तरह का   कर्फ्यू ही है लेकिन जनता कर्फ्यू से सख्त है जनता कर्फ्यू का देश ने पूरी जिम्मेदारी से साथ दिया मोदी ने कहा कि ऐसा सोचना बिल्कुल गलत है कि सोशल डिस्टेंसिंग केवल बीमार व्यक्ति के लिए है सामाजिक दौरे सभी स्वस्थ व्यक्ति बुजुर्ग यहां तक कि प्रधानमंत्री के लिए भी बेहद जरूरी है यह धैर्य है और अनुशासन की घड़ी है उधर आईसीएमआर ने कहा कि थर्मल स्क्रीनिंग से कोरोना को कम से कम 3 बार रोका जा सकता है जबकि समाज से दूरी बनाकर वायरस पर 62 फ़ीसदी नियंत्रण किया जा सकता है लॉक डाउन विश का जरिया है इसलिए लोगों को घर में ही रहना चाहिए ऐसा करने से कुछ हफ्तों में 90 फ़ीसदी तक वायरस पर नियंत्रण पाया जा सकता है आईसीएमआर के वैज्ञानिक डॉ रमन खेड़कर ने कहा कि कोई भी व्यक्ति  दहशत में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा ना लें यह 15 से कम और 60 वर्ष से ज्यादा आयु वाले के लिए यह घातक हो सकती है दवा पर अध्ययन चल रहा है अभी सिर्फ स्वास्थ्य कर्मचारी और उपचार के बाद ठीक संक्रमित व्यक्तियों को यह दवा दे रहे हैं स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया मंगलवार को 51 नए मरीज के साथ संक्रमित की संख्या 519 हो गई इनमें से 41 विदेशी हैं जबकि 37 ठीक हो चुके हैं मुंबई में 65 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई के बाद मृतक की संख्या 10 हो गई सऊदी अरब से अहमदाबाद आए एक बुजुर्ग को बुखार खांसी और सांस लेने में तकलीफ के बाद 20 मार्च को मुंबई स्थित कस्तूरबा गांधी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया वह पहले से रक्तचाप और डायबिटीज से पीड़ित था

चीन में 90 दिनों से कैद 5 करोड़ लोग आज होंगे रिहा


 बीजिंग विश्व में हमारी कोरोनावायरस का केंद्र रहे चीन के हुबेई प्रांत और उसकी राजधानी मोहन से अच्छी खबर आई है चीन ने इस प्रांत में खतरनाक वायरस को फैलने से रोकने में काफी हद तक सफलता पा ली है इसके मद्देनजर सरकार ने 25 मार्च से हवाई में कुछ ढील देने का फैसला किया इस प्रांत में 5 करोड़ से ज्यादा लोग बीते तीन वहां से अपने घर में कैद है हालांकि राजधानी बुहान में लोग पहले की तरह जारी रहेगा अधिकारियों ने बताया कि 8 अप्रैल से मोहान में प्रतिभागियों में ढील दी जाएगी मोहन को रोना से सबसे ज्यादा प्रभावित है और वाई कि इसी सर मैं सबसे अधिक मौत हुई शहर की आबादी 1.1 करोड़ है
जहां पिछले साल दिसंबर में करुणा का पहला हुबेई प्रांत में सात और मरीजों की मौत के साथ चीन में मृतकों की संख्या आज बढ़कर 3277 हो गई 
अकेले हुबेई  मैं अब तक 3160 मौत हो चुकी हैं मंगलवार को चीन में 78 डिपॉजिट मामले के साथ कुल संख्या 81171 पहुंच गई

अपोजिट मामला सामने आया था इसके बाद 30 जनवरी को पूरे हुबेई प्रांत में लॉक डाउन कर दिया गया मैं पिछले 5 दिनों से एक भी पॉजिटिव मरीज नहीं मिला लेकिन सोमवार को एक नया केस सामने आया
सरकार बुधवार से यात्रा प्रबंधों में ढील देगी इसके तहत बुधवार से शुरू हो रही ग्रीन हेल्थ कोड के जरिए हुबेई प्रान्त
 के अन्य हिस्सों में रह रहे लोग यात्रा कर सकेंगे वहीं स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि बुहान में रह रहे लोग 8 अप्रैल से शहर के बाहर यात्रा कर सकेंगे नए को रोना मरीज की संख्या में आई कमी को देखते हुए यह फैसला लिया गया

यूपी में मिले 4 नए मरीज नोएडा की सोसाइटी सील

 लखनऊ यूपी में कोरोना के 4 नए मरीज सामने आए हैं प्रदेश में अब तक 37 मरीज मिले हैं जिनमें से 11 ठीक हो चुके हैं मंगलवार को नोएडा सेक्टर 137 के ब्लॉसम काउंटिंग में नए मरीज मिले पॉजिटिव मिली 47 वर्षीय महिला विदेश नहीं गई लेकिन उसके पति हाल में ही लंदन से आए क्वॉर्इंट से मिले थे महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उनके पति और बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया गया पति की रिपोर्ट भी पॉजिटिव है सोसाइटी को सील कर सैनिटाइज किया जा रहा है फिलहाल तीन मरी नोएडा और एक शामली में नया पैटर्न मिला है सामने में पहला मरी सामने आया 3 नए मरीज सामने आने से नोएडा में पॉजिटिव लोगों की संख्या बढ़कर 11 हो गई आगरा लखनऊ में 8-8 गाजियाबाद में तीन लखीमपुर खीरी मुरादाबाद और वाराणसी में एक-एक मरीज है इनमें से आगरा के साथ गाजियाबाद के दो लखनऊ और नोएडा का एक मरीज स्वस्थ होकर 3 दिन पहले ही घर जा चुका है संयुक्त निदेशक डॉ विकास सेंदु अग्रवाल के अनुसार मंगलवार को कोरोनावायरस के संदिग्ध लक्षण वाले 72 लोगों की विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है

और अब आया हंता चूहे से चीन में आया नया वायरस एक मरा

बीजिंग कोरोना वायरस के जरिए दुनिया में कोहराम मचा चुके चाइना में अब अंता वायरस पलमोनरी सिंड्रोम का मामला सामने आया है यारों घनता वायरस से होता है इसकी चपेट में आकर यहां एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है

सामान्य जुकाम खांसी भी डरा रहा है लोगों को

जुकाम खांसी होते ही लोग कोरोना वायरस की आशंका में भयभीत होने लगे हैं निजी और सरकारी अस्पताल में पहुंच रहे ऐसे मरीज को समझाना डॉक्टरों के लिए एक मुश्किल काम होता जा रहा है जो काम का हंसी की परेशानी से पीड़ित 70 फ़ीसदी मरीज यही आशंका जता रहे हैं जिला अस्पताल और एसएन मेडिकल कॉलेज में बुखार जुकाम खांसी और ओपीडी में औसतन योजना 350 से 450 मरीज आ रहे हैं इनको दो-तीन दिन में जुकाम खांसी होता है कोरोनावायरस की आशंका पर ओपीडी में देखें ने आने पर डॉक्टर इन की ट्रैवलिंग हिस्ट्री जाने और अन्य लक्षणों का आकलन करने पर उन को समझाते हैं कि मौसम जुकाम खांसी है एसएम में मेडिसिन विभाग के डॉक्टर मनीष बंसल ने बताया कि इस समय वायरल फीवर भी चल रहा है जुकाम खांसी ही कोरोनावायरस का लक्षण नहीं है ऐसे मरीज घबराए नहीं वह पीढ़ी में भी चिकित्सक पड़ताल के बाद समझाया जा रहा है

मानसिक रोग विशेषज्ञ के पास भी पहुंच रहे हैं मरीज

मनोचिकित्सक डॉक्टर यूसी गर्ग ने बताया कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते अधिकांश समय इसी की ही बातें हो रही हैं इससे लोगों को रोना वायरस फोबिया के शिकार हो गए हैं ऐसे मरीज ओपीडी में आ रहे हैं खांसी छींक आने पर लोग चिंतित हो रहे हैं सबसे ज्यादा बच्चों को लेकर अभिभावक चिंतित हैं ऐसे लोग की काउंसलिंग कर सावधानियां बरतने को कहा जा रहा है

जुकाम खांसी को कोरोना मानकर इलाज के लिए आ रहे हैं लोग

एसएन मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभागाध्यक्ष डॉ पीके महेश्वरी ने बताया कि खांसी गले में खराश होने पर मरीज को रोना की आशंका जताकर की जांच पर जोर देते हैं वह पीढ़ी में ऐसे लोग ज्यादा आ रहे हैं उनकी पड़ताल के बाद मौसमी जुकाम खांसी होता बताते हैं दवा के साथ गुनगुना पानी पीने और ठंडी सामग्री के उपयोग से बचने की सलाह भी दे रहे हैं

70% मरीज पहुंचते हैं कहीं कोरोना तो नहीं

आईएमए सचिव डॉ संजय चतुर्वेदी ने बताया कि कोरोनावायरस को लेकर लोगों में खांसी है लेकिन इतनी सावधानी नहीं बरत रहे आई एम ए हेल्पलाइन और डॉक्टर के पास दुकान खांसी के 65 से 70 फ़ीसदी मरीज यही कहते हैं कि जिम में गया था किसी ने खास दिया और मुझे भी खांसी हो गई कहीं या कोरोना तो नहीं जांच कहां करवाएं

अब तक कितनी हुई मौत किस देश में कितनी मौत

 अकेले हुबेई  में हुई 3160 मौतें
 चाइना में अब तक कुल 81171 लो संक्रमित हैं हैं

 हल्के में न ले भारतीय अमेरिका इटली जैसा विकसित देश से सबक दिए जाने की जरूरत है

 ग्रह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कोरोनावायरस महामारी विदेश से लौटे लोगों के परिवार के सदस्यों में फैल रही है लिहाजा वे लोग सरकार के निर्देश का पालन करें लोगों को इस महामारी की गंभीरता से लेने की आवश्यकता है क्योंकि संसाधन संपन्न होने के बावजूद अमेरिका वह इटली जैसे विकसित देश भी इसे फैलने से रोकने में असफल रहे रेड्डी ने मंगलवार को कहा अभी तक विदेश से लौटे ज्यादातर लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं अब यह बीमारी उनके परिवार वालों में फैल रही है लिहाजा हमें सावधानी बरतने की आवश्यकता है लोगों को बीमारी को हल्के में लेना चाहिए और सामाजिक दूरी सहित अन्य नहीं करना चाहिए रेड्डी ने कहा हवाई अड्डे पर 15.24  लाख लोगों की स्क्रीनिंग की गई है इनमें से 69436 लोगों को घर में वारंटी में रहने की सलाह दी गई है इन लोगों की निगरानी की जा रही है रेड्डी ने कहा अमेरिका और इटली जैसे विकसित देश में तेजी से मामले बढ़े हैं अमेरिका में 1 महीने में ही मामले 4000 से बढ़कर 41000 हो गए विकसित देशों की संख्या कम है वहां स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर है लेकिन देवी इसे नहीं रोक पा रहे भारतीय लोगों ने दुनिया की दूसरी सबसे ज्यादा आबादी रहती है लिहाजा हम ऐसे नजरअंदाज नहीं कर सकते

 कांग्रेस ने भी कहा कि सरकार को खतरे को गंभीरता से लेना चाहिए था

कांग्रेस ने सरकार पर आरोप लगाया कि उसने कोरोनावायरस के खतरे को लेकर भक्तों से गंभीरता नहीं दिखाई और इसमें लेटलतीफी की कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार कहा कि सरकार को इसे ज्यादा गंभीरता से लेना चाहिए था सरकार ने 2 मार्च तक डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मियों को रोकथाम हेतु जरूरी दिशा निर्देश जारी नहीं किया राहुल ने ट्वीट किया मैं दुखी हूं महसूस कर रहा हूं क्योंकि इसे पूरी तरह से डाला जा सकता है हमारे पास तैयारी का कम समय था हमें इस खतरे को अधिक गंभीरता से लेना चाहिए था और बहुत बेहतर तरीके से तैयार जी की जानी चाहिए थी इसके साथ ही उन्होंने डॉक्टर कामना कक्कड़ के ट्वीट को साझा किया

Post a Comment

0 Comments